मानसरोवर यात्रियों का पहला दल बुधवार को कुमाऊं में करेगा प्रवेश

देहरादून। कैलाश मानसरोवर यात्रा शुरू होने जा रही है। बुधवार को कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला दल कुमाऊं में प्रवेश करेगा। 8 सितंबर तक चलने वाली इस यात्रा के लिए कुमाऊं मंडल विकास निगम ने भी तैयारियां पूरी कर ली है। पहाड़ में यात्रा के सफल संचालन के लिए 100 से ज्यादा कर्मचारियों को काम पर लगाया गया है। सभी यात्रा कैंपों में खान-पान की व्यवस्था कर दी गई है। पहले दल में 59 यात्री शामिल हो रहे हैं। यह सभी शिव भक्त अगले 25 दिनों तक पारंपरिक मार्ग लिपुलेख दर्रे से यात्रा करेंगे। पिछले वर्षों की तरह इस बार भी 18 दलों में 1080 भक्तों को मानसरोवर यात्रा पर जाने का मौका मिलेगा।
कैलाश मानसरोवर यात्रा हिंदू धर्म की पवित्र यात्रा है, जिसे पूरा करने की तमन्ना हर किसी की रहती है। मानसरोवर की यात्रा पर निकले यात्री अल्मोड़ा, धारचूला नजंग तक वाहन से यात्रा करेंगे। इसके बाद यात्री बुंदी होते हुए गुंजी तक पैदल यात्रा करेंगे। गुंजी में यात्रा दो दिन रूकेगी। इस दौरान यात्रियों का मेडिकल होगा. इसके साथ ही एक दिन नाभीढांग में यात्री का होम स्टे का कार्यक्रम भी रहेगा। इसके बाद नाभीढांग होते हुए यात्री लिपुपास के रास्ते चीन में प्रवेश करेंगे। फिर यात्री मानसरोवर का दर्शन कर पाएंगे। यात्रा के लिये केएमवीएन ने तैयारियां पूरी कर ली है। वैसे बता दें कि मौसम अभी भी चुनौती बना हुआ है। केएमवीएन के प्रभारी एमडी विनोद कुमार ने कहा कि तैयारियां पूरी हैं और कैंप भी लग चुके हैं। मैनपावर को तैनात कर दिया गया है. रास्तों में जहां-जहां दिक्कतें हैं उन्हें दुरुस्त किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि एमईए के जरिए यात्रा करवाई जाती है। ऐसे में यात्रा के दौरान अगर मौसम खराब हुआ तब एमईए द्वारा जो दिशा निर्देश प्राप्त होंगे उसके अनुसार ही पहल की जाएगी।

Category: उत्तराखण्ड

About ई टीवी उत्तराखंड

Etv Uttarakhand हम डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा समाचारों, विचारों, साक्षात्कारों की नई श्रृंखला के साथ- साथ खोजी ख़बरों को कुछ हटकर पाठकों तथा दर्शकों के सामने लाने का प्रयास कर रहे है। हमारा ध्येय है कि हमारी खबरें जनसरोकारी हो, निष्पक्ष हों, सकारात्मक हो, रचनात्मक हो, पाठकों तथा दर्शकों का मार्गदर्शन करने में सहायक हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *