FSL जांच से सामने आएगी देहरादून कॉम्प्लेक्स विस्फोट की सच्चाई

By | March 16, 2019

देहरादून के वसंत विहार इलाके के कॉम्प्लेक्स में हुए विस्फोट मामले में सुरक्षा एजेंसियो ने जांच शुरू कर दी है. आपको बता दें कि देहरादून में ये अब तक का सबसे बड़ा विस्फोट है. इस विस्फोट के धमाके की गूंज आधा किलोमीटर दूर तक के लोगों को सुनाई दी थी. धमाके का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसने न केवल आसपास के इमारतों की नींव को हिला दिया बल्कि दुकान में रखा सामान और शटर के परखच्चे दूर दूर तक के घरों में जा गिरे. यह ब्लास्ट उस वक्त हुआ जब लोग गहरी नींद में सो रहे थे. समय तकरीबन 4 बजकर 25 मिनट बताया जा रहा है. जब आसपास के लोगों ने धमाके की आवाज सुनी तो लोगों की नींद उड़ गई. आसपास के लोगों की माने तो धमाके की आवाज से घरों की सारी खिड़कियों के शीशे तक टूट गए और कॉम्प्लेक्स की दुकानों में लगे शटर के परखच्चे और सामान 500 मीटर दूर तक के घरों में जा गिरा.

पुलिस विस्फोट के कारणों का पता लगाने में उलझी हुई है. पुलिस विस्फोट के पीछे गैस रिसाव होने की वजह मान रही है. लेकिन पुलिस विस्फोटक होने से भी इंकार नहीं कर रही है. इसीलिए मौके  एफएसएल टीम द्वारा सैंपल जमा कर एफएसएल जांच के लिए भेज दिया गया है. एसएसपी निवेदिता कुकरेती का कहना है कि एफएसएल रिपोर्ट आने के बाद ही ब्लास्ट के कारणों की सही जानकारी मिल सकेगी.

देश में चल रहे तनाव के बीच देवभूमि में हुए इस धमाके ने सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं. जहां ये धमाका हुआ है, वहां से आईटीबीपी परिसर कुछ ही दूरी पर स्थित है. इसके साथ ही देश का सबसे बड़ा फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट और भारतीय सैन्य अकादमी भी नजदीक है. अगर एफएसएल जांच में विस्फोटक पदार्थ से धमाके की पुष्टि होती है तो तमाम सुरक्षा और ख़ुफ़िया एजेंसियों पर सवाल जरूर खड़े हो जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *