कॉर्बेट में नई गाड़ियों खरीदने के टेंडर पर हाईकोर्ट की रोक

By | March 16, 2019

रामनगर :  कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व में गाड़ियों की आवाजाही का मसला सुलझने के बजाय उलझता ही जा रहा है. कैंटर सफ़ारी वाहनों के टेंडर अलॉट में गड़बड़ी की आशंका पर हाईकोर्ट ने इस प्रक्रिया पर रोक लगा दी है. कॉर्बेट पार्क के ढिकाला जोन में पर्यटकों के लिए ये नई गाड़ियां खरीदी जानी थी. हाईकोर्ट ने इस प्रक्रिया पर रोक लगाने के साथ ही कॉर्बेट पार्क के निदेशक से भी इस मामले पर शपथ पत्र दाखिल कर जवाब दाखिल करने को कहा है. बता दें कि कॉर्बेट पार्क निदेशक ने नवंबर 2018 को ढिकाला ज़ोन में पर्यटकों के घूमने के लिए चार कैंटर सफारी वाहनों के टेंडर निकाले थे. टेंडर प्रक्रिया के बाद 21 में से चार बोलीदाता शर्तें पूरी कर पाए. इन चारों को टेस्टिंग के लिए गाड़ियां लाने को कहा गया.

समस्या तब शुरू हुई जब कॉर्बेट पार्क प्रशासन ने तीन ऐसे लोगों को भी गाड़ियां लाने को कह दिया जो टेंडर प्रक्रिया में सफल नहीं हो पाए थे. टेंडर हासिल करने वाले वेंडर्स ने इसका विरोध किया तो पार्क प्रशासन ने टेंडर ही निरस्त कर दिया. इस मामले को हाईकोर्ट में चुनौती देने वाले वकील दुष्यंत मैनाली ने बताया कि कोर्ट के सामने सवाल उठाए गए हैं कि जब बाघ संरक्षण के लिहाज से सिर्फ़ चार ही गाड़ियों को अनुमति दी जा सकती है तो 7 को कैसे दे दी गई? टेंडर हासिल नाकाम रहने वालों को क्यों गाड़ियां लाने को कहा गया? जब 4 वेंडर्स ने टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली थी तो टेंडर रद्द किस आधार पर किए गए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *