गलत रिपोर्ट देने के मामले में हरिद्वार का धनवंतरि अल्ट्रासाउंड केंद्र सील

By | March 28, 2019

हरिद्वार: जिला उपभोक्ता फोरम के आदेश का पालन करते हुए जिलाधिकारी दीपक रावत ने रानीपुर मोड़ पर स्थित धनवंतरि स्कैन केंद्र पर अल्ट्रासाउंड एवं एक्स-रे मशीन को सील कर दिया। केंद्र पर अल्ट्रासाउंड करने वाले डॉक्टर को भी अवैध तरीके से काम करते हुए पाया गया। फोरम ने केंद्र संचालक को पीड़ित को 18 लाख रुपये देने के आदेश दिए थे।

मिस्सरपुर निवासी प्रदीप चौहान ने अपनी पत्नी हनी के गर्भवती होने पर रानीपुर मोड़ स्थित धनवंतरि स्कैन केंद्र पर अल्ट्रासाउंड एवं एक्स-रे कराए। जिसकी जांच में बताया था कि बच्चा सही है, लेकिन जब पैदा हुआ तो वह अपंग हुआ। उसने 19 जुलाई-2013 को उपभोक्ता फोरम में वाद दायर कर दिया। जिसमें सुनवाई करते हुए फोरम के अध्यक्ष कंवर सेन सदस्य अंजना चड्ढा व विपिन कुमार ने शिकायत को सही पाया। फोरम ने 16 मार्च को आदेश जारी करते हुए पीड़ित को 18 लाख रुपये 6 प्रतिशत ब्याज के साथ और क्षतिपूर्ति एवं वाद व्यय के एक लाख रुपये देने के आदेश सुनाए।

साथ ही रानीपुर मोड़ स्थित धनवंतरि स्कैन सेंटर के अल्ट्रासाउंड और एक्स-रे केंद्र को तीन दिन में सील करने के आदेश दिए थे। आदेश का पालन कराने को जिलाधिकारी को आदेश दिए गए। जांच में पाया गया था कि अल्ट्रासाउंड करने वाला डा. रविंद्र गोयल अल्ट्रासाउंड करने के लिए वैध नहीं हैं। इस आदेश की प्रति मिलने पर जिलाधिकारी दीपक रावत ने सीएमओ को तत्काल कार्रवाई करने के आदेश दिए। जिस पर एसीएमओ डा. एचडी शाक्य के नेतृत्व में टीम बुधवार देर शाम को धनवंतरि स्कैन सेंटर पर पहुंची और केंद्र पर अल्ट्रासाउंड केंद्र एवं एक्स-रे मशीन को सील कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *