गांधी जयंती के अवसर पर हुआ मैनेजमेंट सिस्टम का शुभारंभ

मसूरी : प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव द्वारा उक्त सिस्टम का शुभारंभ करते हुए सभी प्राधिकरण कर्मियों को निर्देशित किया कि दिनांक 3 अक्टूबर से उक्त कार्य से संबंधित सभी कार्य इस ऑनलाइन सिस्टम के द्वारा ही संपादित किए जाएंगे .

इस सिस्टम की विशेषताएं निम्न प्रकार से हैं

1. इस सिस्टम से प्राधिकरण के अवर अभियंता गण साइट पर जाकर ऑनलाइन ही चालान आदि की कार्रवाई संपन्न कर सकेंगे .
2 प्राधिकरण द्वारा अनाधिकृत निर्माण से संबंधित प्रकरणों की सुनवाई भी ऑनलाइन ही की जाएगी ।
3 सभी प्रकरणों के निस्तारण की समय सीमा भी निर्धारित कर दी गई है । जिस पर समय अनुसार कार्रवाई न किए जाने पर उपाध्यक्ष महोदय के डैश बोर्ड पर ऐसे सभी प्रकरण पर परिलक्षित होंगे तथा अपेक्षित कार्रवाई की जा सकेगी।
4 उक्त सिस्टम में शमन मानचित्र की प्रक्रिया को भी इस सिस्टम से इंटीग्रेट कर दिया गया है जिससे किसी भी प्रकरण में मानचित्र शमनित होने की स्थिति में उस प्रकरण का स्वयं ही निराकरण सिस्टम के द्वारा कर दिया जाएगा ।
5- प्राधिकरण के निर्णयों के सापेक्ष जो भी प्रकरण माननीय आयुक्त गढ़वाल के न्यायालय में प्रस्तुत किए जाते हैं उन प्रकरणों को भी ऑनलाइन के माध्यम से आयुक्त महोदय के कार्यालय से जोड़ दिया गया है
6- तथा जिन प्रकरणों में पुलिस बल की आवश्यकता होती है यथा सीलिंग या डिमोलिशन ,इस हेतु ऐसे प्रकरण में पुलिस बल की आवश्यकता हेतु एसएसपी महोदय के कार्यालय को भी इस सिस्टम से इंटीग्रेट कर दिया गया है ।

इस सिस्टम से प्राधिकरण में दर्ज सभी प्रकरणों के निस्तारण में आवश्यक तेजी आएगी एवं पारदर्शिता भी आएगी क्योंकि सभी ऐसे व्यक्तियों को भी सिस्टम में पंजीकृत किया जाएगा जिनके सापेक्ष प्राधिकरण द्वारा चालान की कार्रवाई की गई है

तथा उन्हें समय-समय पर होने वाली कार्रवाई से मेल या एसएमएस के माध्यम से अवगत कराया जाएगा तथा भविष्य में इस तरह का भी प्रोविजन किया जाएगा जिससे जिन जिन के खिलाफ कार्रवाई चल रही है वह ऑनलाइन अपने प्रार्थना पत्र या संबंधित दस्तावेज जमा करा सकते हैं .

प्राधिकरण द्वारा जी आई एस सिस्टम का विकास किया जा रहा है जिसको अनाधिकृत निर्माण मैनेजमेंट सिस्टम से इंटीग्रेट किया जाएगा तथा सभी अनाधिकृत निर्माणों को जी आई एस मैप पर मार्क किया जाएगा साथ ही लीगल निर्माणों को भी मैप पर प्रदर्शित किया जाएगा जिससे प्रथम दृष्टया यह पता चल जाएगा कि कौन सा भवन निर्माण नियमानुसार है एवं कौन सा भवन नियमानुसार नहीं है।

प्राधिकरण सचिव जी सी गुनवंत ,सचिव सेमवाल , सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर संजीवन सूठा अन्य अधिकारी गण तथा कर्मचारी उपस्थित थे ।

Category: मसूरी

About ई टीवी उत्तराखंड

Etv Uttarakhand हम डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा समाचारों, विचारों, साक्षात्कारों की नई श्रृंखला के साथ- साथ खोजी ख़बरों को कुछ हटकर पाठकों तथा दर्शकों के सामने लाने का प्रयास कर रहे है। हमारा ध्येय है कि हमारी खबरें जनसरोकारी हो, निष्पक्ष हों, सकारात्मक हो, रचनात्मक हो, पाठकों तथा दर्शकों का मार्गदर्शन करने में सहायक हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *