डीआइजी गैंग के निशाने पर ईश्वरन बिल्डर व प्रापर्टी डीलर ही नहीं शहर के नामचीन डाक्टर भी

देहरादून । दिल्ली के ‘डीआइजी’ गैंग के निशाने पर ईश्वरन, बिल्डर व प्रापर्टी डीलर राकेश बत्ता ही नहीं शहर के नामचीन डाक्टर भी थे। गिरोह के सदस्यों ने उनके घर की बाकायदा रेकी कर रखी थी। गैंग 28 अगस्त को उनके घर डाका डालने आया भी, लेकिन डाक्टर के बंगले पर बंधे कुत्तों ने भौंकना शुरू कर दिया और वीरेंद्र के गैंग को उल्टे पांव भागना पड़ा।

इसका राजफाश गुरुवार को क्रिकेटर अभिमन्यु ईश्वरन के माता-पिता को बंधक बनाकर डकैती डालने वाले गैंग में शामिल हैदर अली ने किया। हैदर को राजपुर पुलिस बुधवार को बिजनौर के खासपुरा तिराहे से गिरफ्तार करने के बाद गुरुवार को लेकर देहरादून पहुंची थी।

एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि हैदर अली पुत्र इस्लामुद्दीन निवासी महदूदगांव, नूरपुर थाना चांदपुर, बिजनौर वीरेंद्र ठाकुर उर्फ डीआइजी गैंग का खास गुर्गा है। वह गैंग के साथ वर्ष 2015 से जुड़ा हुआ है। हैदर ने पूछताछ में बताया कि 26 मई को परिवहन विभाग के अधिकारी के घर डाका डालने के बाद जब कई दिनों तक लूटपाट की खबर सुर्खियों में नहीं आई तो गिरोह का हौसला बढ़ने लगा।

वीरेंद्र ने देहरादून में बैठे अपने खबरी मुजीबुर रहमान उर्फ पीरू और फुरकान को एक्टिव किया और फिर यहां के कई करोड़पतियों की फेहरिस्त तैयार की। इस लिस्ट में शहर के एक नामचीन डाक्टर भी शामिल थे। एसएसपी ने डाक्टर के नाम और पते का जिक्र किए बिना बताया कि वीरेंद्र डाक्टर के घर बीती 28 अगस्त को डाका डालने आया था। अदनान और हैदर डाक्टर के घर में घुसने की कोशिश कर ही रहे थे कि लॉन में बंधे कुत्ते ने भौंकना शुरू कर दिया।

इससे दोनों डर गए और वारदात को अंजाम देने से पांव पीछे खींच लिया। वीरेंद्र उसी दिन साथियों को लेकर दिल्ली लौट गया। पूछताछ में हैदर ने बताया कि दिल्ली पहुंचने के बाद वीरेंद्र ने एक बार फिर पीरू और फुरकान की ओर से भेजी गई लिस्ट पर काम करना शुरू किया और शहर के नामी बिल्डर व प्रापर्टी डीलर राकेश बत्ता को टारगेट पर लिया। 22 सितंबर को वीरेंद्र साथियों के साथ बत्ता के घर गया भी, लेकिन वहां बत्ता के न मिलने और घर में कई लोगों के मौजूद होने के कारण प्लानिंग एक बार फिर फेल हो गई। मगर इस बार वीरेंद्र ने ठान लिया था कि वह खाली हाथ नहीं लौटेगा। लिहाजा मसूरी रोड स्थित क्रिकेटर अभिमन्यु ईश्वरन के पिता आरपी ईश्वरन के घर पर धावा बोला और नकदी समेत लाखों की लूटपाट की।

आरपी ईश्वरन के घर डाली गई डकैती में से हैदर के हिस्से आए 11.69 लाख रुपये भी पुलिस ने बरामद कर लिए हैं। उसके पास से ईश्वरन के घर से लूटी गई कुछ ज्वैलरी और सामान भी मिले हैं। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि ईश्वरन डकैती कांड में अब तक बीस लाख रुपये से अधिक के जेवरात और कैश की बरामदगी कर ली गई है। शेष रकम भी जल्द ही बरामद कर ली जाएगी।

Category: ख़ुलासा

About ई टीवी उत्तराखंड

Etv Uttarakhand हम डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा समाचारों, विचारों, साक्षात्कारों की नई श्रृंखला के साथ- साथ खोजी ख़बरों को कुछ हटकर पाठकों तथा दर्शकों के सामने लाने का प्रयास कर रहे है। हमारा ध्येय है कि हमारी खबरें जनसरोकारी हो, निष्पक्ष हों, सकारात्मक हो, रचनात्मक हो, पाठकों तथा दर्शकों का मार्गदर्शन करने में सहायक हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *