रेनो इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर बने वेंकटराम ममिलापल्ली

By | March 25, 2019

देहरादून- रेनो ने वेंकटराम ममिलापल्ली को कंट्री सीईओ  मैनेजिंग डायरेक्टर बनाने की घोषणा की। उनका आटोमोबाइलक्षेत्र में 28 साल का अनुभव है और वे भारत और सार्क देशों में रेनो  के आपरेशन की अगुआई करेंगे। । इस पद की जिम्मेदारी संभालने से पहले वे रूस मेंरेनो  निसानएवटोवाज के प्रमुख थे और उन्होंने कंपनी में व्यापक फेरबदल कर आगे को बढ़ाया और मुनाफा बढ़ाया। रेनो समूह में आने से पहलेवेंकटराम ने भारत और विश्व की कई ओईएम में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभाली हैं।

रेनो इंडिया के इनिशियल मैनडेट की जानकारी देते हुए वेंकटराम ममिलापल्ली ने कहा, “कारोबार को तेजी से आगे बढ़ाने के लिए मैंने कंपनी के तीनध्येय निर्धारित किए हैं। पहला है आर्गेनाइजेशनसभी लोग मिलकर काम करेंगे जो एक टीम जो जिसकी एक महत्वाकांक्षा‘ के तहत काम करेगी। यहहमारा बुनियादी लक्ष्य है। अगला है, ‘कस्टमर फर्स्ट‘ एप्रोच। यह सभी कारोबारी क्षेत्रों में लागू होगा जो क्वालिटी डिलीवरी प्रोडक्टस लागू करने में लागूहोगा (उत्पादन और जागरूकता दोनों क्षेत्रों में) यह इंजीनियरिंगमैन्यूफैक्चरिंगसप्लायर्स और डीलर्स पर खासतौर पर केंद्रित होगा। तीसरा ध्येयमुनाफे के दोगुना करना है। इसके तहत अगले तीन सालों में मध्यम अवधि की रणनीति के तहत तीन सालों में 1,50,000 यूनिट्स की बिक्री करना है।

भारतीय ऑटोमोबाइल मार्केट में हाल में प्रवेश करने वाले रेनो इंडिया ने बीते साल में 50,000 से अधिक वाहनों की बिक्री की। भारत में पहली बार किसीब्रांड ने इतने कम समय में इतने वाहनों की बिक्री की उपलब्धि हासिल की है। लिहाजा यह मील का पत्थर है। ग्रुप रेनो  के लिए भारत रणनीतिक बाजारहै। कंपनी ने अपना कारोबार भारत में जमाने के लिए इंडिया स्ट्रेटजी’ बनाई है जो मध्यम अवधि की रणनीति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *