आबकारी के नियम कायदों को ठेंगा दिखा रहे ठेका-गोदाम

आबकारी के नियम कायदों को ठेंगा दिखा रहे ठेका-गोदाम

सेल्समैन देते हैं भरोसा, नहीं होगी कोई कार्रवाई

अनुज नेगी
पौड़ी।एक और आबकारी विभाग को शराब बेचने के लिये ठेकेदार नही मिल रहे वही दूसरी और आबकारी अधिकारियों की मिलीभगत से खुल कर अवैध शराब बेची जा रही है,जिसके कारण राजस्व को करोड़ो रूपये का नुकसान हो रहा है।
जनपद पौड़ी के सभी सरकारी शराब की दुकानों में शराब गोदामों को भी दुकानों की तरह चलाया जा रहा है। जनपद पौड़ी के सभी शराब लाइसेंसधारी दो-दो ब्रांच चला रहे हैं, लेकिन विभाग की उदासीनता से इन पर कार्रवाई नहीं हो रही है। जनपद पौड़ी के सर्किट हाउस,कोटद्वार, दुगड्डा,कंडाखाल,पाटीसैण,
सेडियाखाल,सतपुली,खिर्स,गुमखाल,सिलोगी,चेलुसैण,पंया(नीलकंठ) सहित कई जगह गोदामो से दूसरे बाज़ारो में धड़ल्ले से शराब बेचने के साथ ही एक लाइसेंस पर ब्रांच चल रही हैं।
आप को बता दे आबकारी नियम अनुसार गोदाम से शराब बेचना तो दूर शराब की पेटी को खोल तक नहीं सकते, लेकिन सारे नियम कायदे ताक पर रखे जा रहे हैं।
आप को बतादे जिले के अधिकांश बाज़ारो में नियमों को ताक पर रख कर अवैध शराब बेची जा रही है। बड़ा फ्रिज और ठीक दुकान की तरह शराब की बोतलें सजा रखी हैं।
जब मौजूद दुकान के सेल्समैन से पूछा तो उसने विभाग की सांठगांठ से चलाने का आरोप लगाया है।

क्या है नियम : एक लाइसेंस पर एक ही दुकान चलाई जा सकती है। दूसरा ब्रांच नहीं खोल सकते। ऐसा करने पर लाइसेंस निरस्त किया जा सकता है। गोदाम से एक किमी दायरे में ही दुकान होनी चाहिए। सुबह दस बजे से पहले और रात दस बजे के बाद शराब नहीं बेच सकते। एमआरपी से ज्यादा वसूल नहीं कर सकते। शराब के अलावा कुछ नहीं बेच सकते। शराब की दुकान में बिल मशीन व सीसीटीवी कैमरे अवश्य लगे हो।

शराब गोदाम से किसी भी प्रकार से शराब सप्लाई नहीं की जा सकती,अगर गोदामो से शराब सप्लाई की जा रही है तो इसकी जांच की जायेगी और अगर जांच में अनियमितता पाई गई तो गोदाम निरस्त किया जायेगा।

ड्रॉ शिव कुमार बरनवाल-अपर जिला अधिकारी पौड़ी

Category: उत्तराखण्ड

About ई टीवी उत्तराखंड

Etv Uttarakhand हम डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा समाचारों, विचारों, साक्षात्कारों की नई श्रृंखला के साथ- साथ खोजी ख़बरों को कुछ हटकर पाठकों तथा दर्शकों के सामने लाने का प्रयास कर रहे है। हमारा ध्येय है कि हमारी खबरें जनसरोकारी हो, निष्पक्ष हों, सकारात्मक हो, रचनात्मक हो, पाठकों तथा दर्शकों का मार्गदर्शन करने में सहायक हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *